[ad_1]

हाइलाइट्स

किसान विकास पत्र भारत सरकार की एक वन टाइम इन्वेस्टमेंट स्कीम है.
जहां एक तय अवधि में आपका पैसा दोगुना हो जाता है.
इस पर मिलने वाले ब्याज 7.5 फीसदी सालाना है.

Post office kisan vikas patra scheme: बुरे वक्त में हमेशा हमारी जमा पूंजी ही हमारे काम आती है. लेकिन व्यक्ति इसी उलझन में उलझा रहता है कि कहा इन्वेस्ट करे, जहां उसका पैसा सेफ होने के साथ ही रिटर्न भी अच्छा मिले. तो चलिए आज हम आपको एक ऐसी ही स्कीम के बारे में बताते हैं, जहां आपका पैसा सुरक्षित भी रहेगा साथ ही मैच्योरिटी पर मिलेगा डबल रिटर्न. ये है पोस्ट ऑफिस की किसान विकास पत्र योजना.

किसान विकास पत्र भारत सरकार की एक वन टाइम इन्वेस्टमेंट स्कीम है, जहां एक तय अवधि में आपका पैसा दोगुना हो जाता है. किसान विकास पत्र देश के सभी डाकघरों और बड़े बैंकों में मौजूद है. केंद्र सरकार ने 1 अप्रैल 2023 से किसान विकास पत्र पर मिलने वाले ब्याज को 7.2 फीसदी से बढ़ाकर 7.5 फीसदी सालाना कर दिया है. यानी अब इस योजना में आपका पैसा ज्यादा जल्दी डबल हो जाएगा.

ये भी पढ़ें: Bank Holidays: अगस्त में 14 दिन बंद रहेंगे बैंक, इस लिस्ट को देखकर ही जाएं, वरना नहीं होगा काम

कौन कर सकते हैं निवेश?
किसान विकास पत्र (KVP) में निवेश करने वाले की उम्र कम से कम 18 साल होना जरूरी है. इसमें सिंगल अकाउंट के अलावा ज्वॉइंट अकाउंट की भी सुविधा है. वहीं यह योजना नाबालिगों के लिए भी मैजूद है, जिसकी देखरेख अभिभावक को करना होता है. यह योजना हिंदू अविभाजित परिवार यानी HUF या NRI को छोड़कर ट्रस्ट के लिए भी लागू है. किसान विकास पत्र (KVP) में निवेश करने के लिए 1000 रुपये, 5000 रुपये, 10,000 रुपये और 50,000 रुपये तक के सर्टिफिकेट हैं, जिन्हें खरीदे जा सकते हैं.

कितना मिलता है ब्याज
सरकार ने 1 अप्रैल से इस योजना की ब्याज दरें बढ़ा दी हैं. अब आपको इस योजना में निवेश करने पर सालाना 7.5 फीसदी की दर से रिटर्न मिल रहा है. जनवरी, 2023 से मार्च, 2023 तक इस स्कीम में पैसे डबल होने में 120 महीने लग रहे थे. लेकिन अब आपका पैसा उससे पांच महीने पहले यानी 115 महीने यानी 9 साल और 7 महीने में ही डबल हो जाएगा. अगर आप इसमें एकमुश्त 2 लाख डालते हैं तो आपको 115 महीने में 4 लाख वापस मिल जाएंगे. अच्छी बात है कि आपको इस स्कीम में कंपाउंडिंग इंटरेस्ट का फायदा भी मिलता है.

ट्रांसफर करने की भी है सुविधा
किसान विकास पत्र को जारी करने की तारीख के ढाई साल बाद भुनाया जा सकता है. KVP को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में भी स्थानांतरित किया जा सकता है. किसान विकास पत्र को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को स्थानांतरित किया जा सकता है. KVP में नॉमिनेशन की सुविधा उपलब्ध है. किसान विकास पत्र को पासबुक के आकार में जारी किया जाता है.

Tags: Earn money, Kisan Vikas Patra, Money Making Tips, Post Office

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *