[ad_1]

हाइलाइट्स

स्टॉक एसआईपी में फंड खुद मैनेज करना होता है.
म्यूचुअल फंड एसआईपी अधिक सुरक्षित होती है.
स्टॉक एसआईपी में रिटर्न बेहतर मिल सकता है.

नई दिल्ली. सेविंग्स और इन्वेस्टमेंट की खबरों पर नजर बनाए रखने वाले लोगों ने पिछले कुछ दिन SIP के काफी चर्चे सुने होंगे. एसआईपी यानी सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान. इसमें आप एक निश्चित अंतराल पर कुछ राशि जमा करते रहते हैं. यह पैसा एकत्रित होता जाता है. इस पर आपको रिटर्न मिलता रहता है. साल-दर-साल कंपाउंडिंग के सहारे आपका छोटा-छोटा निवेश काफी बड़ा बन जाता है. यह एसआईपी का आधारभूत स्ट्रक्चर है. आमतौर पर केवल म्यूचुअल फंड एसआईपी के बारे में ही बात की जाती है. आज हम आपको स्टॉक एसआईपी के बारे में भी बताएंगे.

इन दोनों ही तरह की एसआईपी में क्या अंतर है, कौनसी एसआईपी ज्यादा फायदेमंद है और किसमें रिस्क कम है, इन तीनों ही बिंदुओं के बारे में आपको बताने की कोशिश की जाएगी. आइए इनके बारे में विस्तार से जानने का प्रयास करते हैं.

ये भी पढ़ें- इस पेड़ की भी कर सकते हैं खेती, लाखों नहीं करोड़ों में खेलेंगे, मात्र 5-10 लगाने से ही हो जाएगी बंपर कमाई

क्या है म्यूचुअल फंड एसआईपी?
आप एक म्यूचुअल फंड में नियमित अंतराल पर पैसा जमा करते रहते हैं. आपका पैसा यहां से भी अंतत: स्टॉक्स में ही जा रहा होता है. आप चाहें तो अपने हिसाब से पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई कर सकते हैं और किस सेक्टर के स्टॉक में ज्यादा पैसा जाएगा यह चुन सकते हैं. इससे यह होता है कि अगर कोई स्टॉक कमजोर पड़ रहा है तो दूसरा स्टॉक उसकी भरपाई कर देता है. म्यूचुअल फंड्स को पेशेवर फंड मैनेजर द्वारा मैनेज किया जाता है. इसलिए यहां एक सुरक्षा का भाव भी रहता है.

क्या होता है स्टॉक एसआईपी?
इसमें आपका पैसा कोई फंड मैनेजर नहीं देख रहा होता. आपको किसी एक शेयर में लगातार नियमित अंतराल पर पैसा लगाना होता है. शेयर की कीमत गिरने पर आप अधिक मात्रा में उसे खरीदते हैं ताकि कॉस्ट एवरेजिंग का फायदा उठाया जा सके. हालांकि, मार्केट के टूटने पर स्टॉक एसआईपी पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है.

क्या बेहतर?
रिस्क की बात की जाए तो जाहिर तौर पर स्टॉक एसआईपी में अधिक जोखिम होता है. जोखिम तो म्यूचुअल फंड एसआईपी में भी है लेकिन इसमें बहुत ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता. लेकिन रिटर्न के मामले में स्टॉक एसआईपी ऊपर निकल जाता है. अगर मार्केट अच्छा चल रहा है तो स्टॉक एसआईपी आपको म्यूचुअल फंड एसआईपी से कहीं ज्यादा रिटर्न दे सकता है.

(Disclaimer: यहां बताए गए स्‍टॉक्‍स सिर्फ जानकारी देने के उद्देश्य से हैं. यदि आप इनमें से किसी में भी पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले सर्टिफाइड इनवेस्‍टमेंट एडवायजर से परामर्श कर लें. आपके किसी भी तरह की लाभ या हानि के लिए लिए News18 जिम्मेदार नहीं होगा.)

Tags: Business news in hindi, Earn money, Investment tips, Saving

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *