[ad_1]

हाइलाइट्स

पीपीएफ में लगाए पैसे पर टैक्‍स छूट मिलती है.
इसमें ब्‍याज भी काफी आकर्षक मिलता है.
पीपीएफ में पैसा डूबने का खतरा नहीं है.

नई दिल्‍ली. PPF में निवेश करने पर इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक टैक्स छूट मिलती है. टैक्‍स छूट, बढि़या ब्‍याज और पैसा डूबने का कोई खतरा न होने के कारण, यह एक लोकप्रिय बचत योजना है. पीपीएफ में लगाए पैसे पर आप और लोगों से ज्‍यादा ब्‍याज पा सकते हैं. ज्‍यादा ब्‍याज पाने के लिए आपको कुछ एक्‍सट्रा नहीं करना है. इसके लिए बस आपको पीपीएफ के नियमों को ढंग से जानना होगा. अगर निवेशक प्रोविडेंट फंड खाते में ब्याज की गणना के बारे में सही जानकारी रखकर उसी हिसाब से अपने खाते को मैनेज करते हैं तो निश्चित तौर पर वे पीपीएफ खाते में जमा रकम से औरों के मुकाबले ज्यादा रिटर्न हासिल कर सकते हैं.

पीपीएफ खाता डाकघर अथवा किसी भी बैंक की शाखा में खुलवाया जा सकता है. पीपीएफ अकाउंट में प्रति वर्ष कम से कम 500 रुपये तथा अधिकतम 1,50,000 रुपये तक जमा करवाए जा सकते हैं. इस रकम का ब्याज़ हर वित्तवर्ष के आखिरी दिन खाते में जोड़ दिया जाता है. फिलहाल सरकार पीपीएफ में लगाए गए पैसे पर 7.1 फीसदी ब्‍याज दे रही है.

ये भी पढ़ें- आज रॉकेट बन गया यह मिडकैप शेयर, LIC ने भी लगाया है इसमें मोटा पैसा, क्‍यों आई तेजी, क्‍या बरकरार रहेगी गति?

5 तारीख तक निवेश
पीपीएफ के नियमों के मुताबिक, प्रोविडेंट फंड खाते में ब्याज की गणना महीने की अंतिम तारीख से 5 तारीख के बीच खाते में जमा राशि पर की जाती है. टैक्स और इन्वेस्टमेंट एक्सपर्ट के मुताबिक, पीपीएफ में पैसा हर महीने की एक से 5 तारीख के बीच जमा करना चाहिए. 5 तारीख के बाद जमा पैसे पर आपको कोई ब्‍याज नहीं मिलेगा और उस राशि पर आपको अगले महीने से ब्‍याज मिलना शुरू होगा. इसलिए हर हाल में 5 तारीख तक पैसा जमा करा देना चाहिए.

साल के शुरुआत में लगाएं पैसा
पीपीएफ में पैसे पर चक्रवृद्धि ब्‍याज मिलता है. कंपाउंडिंग की यही खासियत पैसे को बढ़ाती है. पीपीएफ खाते में जमा रकम से ज्‍यादा ब्‍याज पाने के लिए आपको वित्‍तीय वर्ष की शुरुआत में ही पूरा निवेश कर देना चाहिए. इसका मतलब है कि सालभर में जितना पैसा पीपीएफ में लगाना चाहते हैं, उतना एक साथ 5 अप्रैल तक ही जमा करा देना चाहिए. ऐसा करने से आपको साल के शुरू से लेकर अंत तक पूरी रकम पर ब्‍याज मिलेगा और आपको ज्‍यादा फायदा होगा.

निकासी से बचें
पब्लिक प्रोविडेंट खाते से ज्‍यादा ब्‍याज पाने के लिए आपको बार-बार पीपीएफ खाते से पैसे निकालने से बचना चाहिए. पैसे तभी निकालें, जब ऐसा करना बहुत ज्‍यादा जरूरी हो. बार-बार निकासी करने से न्यूनतम शेष राशि का पैमाना ख़राब हो जाता है और व्यक्ति वांछित ब्याज राशि अर्जित नहीं कर पाता.

अधिकतम निवेश
आप अपने पीपीएफ खाते में सालाना 1.5 लाख रुपये तक निवेश कर सकते हैं. पीपीएफ की ब्‍याज दर और टैक्‍स छूट कई अन्‍य सरकारी योजनाओं से ज्‍यादा है. इसलिए ब्याज से ज्‍यादा पैसा कमाने के लिए आपको पीपीएफ खाते में साल में 1.5 लाख रुपये जमा कराने चाहिए.

Tags: Business news in hindi, Earn money, Money Making Tips, Personal finance, PPF, PPF account

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *