[ad_1]

हाइलाइट्स

इक्विटी में कम से कम 10 साल के लिए निवेश करना चाहिए.
10 साल से ज्‍यादा का निवेश 10 फीसदी से अधिक रिटर्न देगा.
इससे रिटायरमेंट तक आप अच्‍छा खास फंड जुटा सकते हैं.

नई दिल्‍ली. यह बात सही है कि निवेश और बचत जितनी जल्‍दी शुरू की जाए, उतना ही बेहतर होता है और फायदा भी ज्‍यादा मिलता है. लेकिन, जिंदगी की जिम्‍मेदारियों को पूरा करने और लोन वगैरह चुकाने में फंसकर रह गए और सेविंग नहीं कर सके. ऊपर से रिटायरमेंट भी सिर पर आ गया है तो अब कहां पैसा लगाएं जिससे फटाफट आपके खाते में एक मोटा फंड जमा हो जाए.

निवेश सलाहकार बलवंत जैन बताते हैं कि रिटायरमेंट की प्‍लानिंग भी कई बार खर्चों और जिम्‍मेदारी की वजह से नहीं हो पाती और आप देखते ही देखते 50 की उम्र पार कर जाते हैं. अगर आपके साथ भी ऐसा ही हुआ है और अभी तक रिटायरमेंट के लिए पैसे नहीं जोड़ सके हैं तो निवेश की अलग रणनीति बनाकर मोटा फंड जुटा सकते हैं. इसके लिए जरूरी है कि आपकी देनदारियां कम हों और आप बाजार में थोड़ा जोखिम उठाने के लिए भी तैयार हों.

ये भी पढ़ें – स्‍वर्ग से सुंदर होगा वंदे भारत का सफर! 119 किलोमीटर तक सुरंगों में चलेगी ट्रेन, रास्‍ते में पड़ेंगे 927 पुल

ज्‍यादा रिटर्न वाले विकल्‍प चुनें
किसी भी नौकरीपेशा के लिए 50 साल की उम्र वह पड़ाव होता है, जब उसकी आय अपने उच्चतम स्तर पर और लोन आदि की देनदारियां लगभग खत्म होने की कगार पर रहती हैं. ऐसे में निवेशक जोखिम लेने में भी सक्षम रहता है तो उसकी पूरी रणनीति ज्यादा रिटर्न पाने की होनी चाहिए. इसके लिए इक्विटी आधारित निवेश पर जोर देना बेहतर होगा. कुछ हिस्सा इंटरनेशनल इक्विटी फंड, डेट फंड और सोने में भी लगाना चाहिए. निवेशक ध्यान रखें कि इक्विटी में लगाने वाले पैसे को कम से कम 10 साल तक बनाए रखेंगे तो 10-12% का जबरदस्त रिटर्न मिल सकता है.

अगर जोखिम नहीं लेना चाहते तो…
50 साल से ज्यादा उम्र के ऐसे निवेशक जिनमें जोखिम लेने की क्षमता नहीं होती और शॉर्ट टर्म का लक्ष्य लेकर चलते हैं, उन्हें लार्जकैप सेग्मेंट में सबसे ज्यादा निवेश करना चाहिए. ऐसे निवेशकों को लॉर्जकैप फंड में कुल फोलियो का 50%, मल्टीकैप फंड में 40%, मिड और स्मॉलकैप फंड में 10% का निवेश करना चाहिए. इसके अलावा अन्‍य फंड से फोलियो घटाना हो तो कम अवधि वाली एफडी और पोस्ट ऑफिस की योजनाओं में निवेश कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें – RCTC की अनोखी बातें! हैरत में डाल देंगी ये जानकारियां, नाम हैं कई रिकॉर्ड, बन चुकी है मिनी रत्‍न कंपनी

  • 60 के करीब हैं तो 3 भाग में बाटें पैसा
  • जब आपकी उम्र 60 के करीब हो या आप रिटायरमेंट ले चुके हैं तो निवेश को तीन भागों में बांटकर रिटर्न का लक्ष्य बनाएं.
  • पहला लिक्विड फंड का खाता बनाएं जो आपको जरूरत पड़ने पर तत्काल पैसे उपलब्ध करा सके. इसमें 40 महीने के खर्च के बराबर राशि जमा करें, जो एफडी या शार्ट टर्म बांड में लगाई जा सकती है. इसमें 15-20% का निवेश हो.
  • दूसरा स्थायी आय का विकल्प तैयार करें जिससे निवेश पर कोई जोखिम न हो और निश्चित रिटर्न भी मिलता रहे. इसके लिए वय वंदन योजना या आरबीआई बांड में पैसे लगा सकते हैं. इसमें 45-50% का निवेश करना चाहिए.
  • तीसरे विकल्प में ज्यादा रिटर्न देने वाले निवेश शामिल करें, जो फंड को तेजी से बढ़ा सकें. इसके लिए बाजार से जुड़े इक्विटी उत्पाद चुन सकते हैं. इसमें 30-40% हिस्‍सा लगाना चाहिए.

Tags: Business news in hindi, Investment and return, Retirement fund, Retirement savings

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *