[ad_1]

हाइलाइट्स

महिंद्रा मैनुलाइफ ने मल्‍टी एसेट फंड उतारा है.
यह फंड 4 विकल्‍पों में एकसाथ पैसे लगाता है.
इक्विटी के साथ डेट और गोल्‍ड का भी रिटर्न मिलता है.

नई दिल्‍ली. शेयर बाजार के जोखिम से डर लगता है और एफडी से ज्‍यादा रिटर्न पाने की इच्‍छा भी है, तो हम आपको दोनों का ही समाधान उपलब्‍ध कराते हैं. ऐसे निवेशकों के लिए महिंद्रा मैनुलाइफ ने मल्‍टी एसेट फंड उतारा है, जो इक्विटी, डेट और गोल्ड/सिल्वर ईटीएफ यूनिट्स में एकसाथ निवेश करता है. इस फंड में निवेश की शुरुआत 20 फरवरी से हो चुकी है और 5 मार्च तक खुदरा निवेशक इसमें पैसे लगा सकते हैं. खास बात ये है कि इस फंड में एलटीसीजी के तहत टैक्‍स छूट भी मिलती है.

दरअसल, महिंद्रा मैनुलाइफ म्यूचुअल फंड ने विविध एसेट क्लास (इक्विटी, डेट और गोल्ड/सिल्वर ईटीएफ यूनिट्स) में निवेश करने के इच्छुक निवेशकों के लिए मल्टी एसेट एलोकेशन फंड लॉन्च किया है. यह एनएफओ 20 फरवरी को खुल चुका है और 5 मार्च को बंद हो जाएगा. बाद में 15 मार्च, 2024 से निरंतर बिक्री और पुनर्खरीद के लिए फिर से खुल जाएगा.

ये भी पढ़ें – दुनिया के 2 दिग्‍गजों ने बताया भारतीय शेयर बाजार का भविष्‍य, सुनकर उछल पड़ेंगे निवेशक, फटाफट लगा दीजिए पैसा

बाजार के उतार-चढ़ाव को करेगा बैलेंस
बाजार की बदलती गतिशीलता के आधार पर फंड प्रबंधकों द्वारा एसेट अलोकेशन को नियमित रूप से रीबैलेंस किया जाएगा. इस डाईवर्सिफाइड पोर्टफोलियो का उद्देश्य निश्चित आय की स्थिरता, इक्विटी की विकास क्षमता और निवेशकों को इंडेक्सेशन के लाभ के साथ लंबे समय में पूंजीगत लाभ कर (एलटीसीजी) का फायदा दिलाना है. यानी इसके रिटर्न पर लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्‍स का लाभ मिलेगा, जो एक साल में 1 लाख रुपये तक के रिटर्न पर शून्‍य टैक्‍स का फायदा दिलाता है.

हर निवेशक के लिए फायदे का सौदा
महिंद्रा मैनुलाइफ इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट के एमडी और सीईओ एंथनी हेरेडिया ने कहा, हम अपने मल्टी-एसेट एलोकेशन फंड को लेकर काफी उत्साहित हैं. यह ऐसा उत्पाद है जो हर निवेशक के पोर्टफोलियो में फिट हो सकता है. बाज़ार हमेशा चुनौतियों के साथ-साथ अवसर भी पेश करेगा और सोच-समझकर एसेट्स क्लास के बीच किया गया निवेश अच्‍छा रिटर्न भी दिलाएगा. यह फंड निवेशकों को इक्विटी, डेट और गोल्ड/सिल्वर ईटीएफ सहित एक उत्पाद के भीतर कई एसेट क्लास तक पहुंचने का अवसर देता है.

एसआईपी का भी मिलेगा विकल्‍प
इस स्‍कीम में एकमुश्‍त पैसा लगाने के साथ निवेशकों को एसआईपी के जरिये भी निवेश का मौका मिलेगा. डेट और इक्विटी दोनों ही क्‍लास का फायदा एकसाथ दिलाने की वजह से यह निवेशकों के बीच तेजी से पॉपुलर होगी. एसेट अलोकेशन चलन में है, जिससे बाजार का स्तर कम महत्वपूर्ण हो गया है. जिनके पास अतिरिक्त नकदी है वे इन स्कीमों में एकमुश्त निवेश पर विचार कर सकते हैं, जबकि अन्य निवेशक एसआईपी का विकल्प चुन सकते हैं.

Tags: Business news in hindi, Gold investment, Investment, Mutual fund, Mutual fund investors

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *