हाइलाइट्स

हाइब्रिड फंड्स में अलग-अलग निवेश विकल्पों में पैसे लगाए जाते हैं.
डेट फंड्स से संबंधित टैक्स प्रणाली में बदलाव के बाद लोग दोबारा इस तरफ आए.
दिसंबर 2021 तिमाही के बाद यह सबसे अधिक निवेश है.

नई दिल्ली. लगातार तीन तिमाहियों में पैसा निकालने के बाद हाइब्रिड म्यूचुअल फंड योजनाओं ने निवेशकों को फिर आकर्षित करना शुरू कर दिया है. डेट फंड्स पर टैक्स में हालिया बदलाव के बाद जून तिमाही में हाइब्रिड म्यूचुअल फंड योजनाओं को 14,000 करोड़ रुपये का निवेश मिला है. हाइब्रिड म्यूचुअल फंड ऐसे फंड्स होते हैं जो शेयर, बॉन्ड और डेट में एकसाथ निवेश करते हैं. कई बार इनके द्वारा सोने जैसी अन्य संपत्तियों में भी पैसा लगाया जाता है.

यह पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में हाइब्रिड योजनाओं में आए 10,084 करोड़ रुपये निवेश से कहीं अधिक है. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों के अनुसार, समीक्षाधीन तिमाही में हाइब्रिड कोषों के असेट अडंर मैनेजमेंट (एयूएम) और फोलियो (निवेशक खाते) की संख्या में भी वृद्धि हुई.

ये भी पढ़ें- 6 करोड़ से ज्यादा ITR हुए फाइल, पार हुआ पिछली बार का आंकड़ा, आज है लास्ट डेट, नहीं भरा तो क्या होगा?

लगातार निकासी के बाद निवेशकों की वापसी
हाइब्रिड म्यूचुअल फंड मध्यम या कम जोखिम वाले निवेशकों को अधिक आकर्षित करते हैं. इन्हें हमेशा अच्छा निवेश विकल्प माना जाता है, क्योंकि ये शेयर बाजारों में भागीदारी से जुड़े जोखिम को कम करते हैं. आंकड़ों के अनुसार, हाइब्रिड म्यूचुअल फंड में जून तिमाही में 14,021 करोड़ रुपये का निवेश हुआ. इससे पहले लगातार तीन तिमाहियों में इन कोषों से निवेशकों ने निकासी की थी. निवेशकों ने मार्च तिमाही में हाइब्रिड म्यूचुअल फंड से 7,420 करोड़ रुपये, दिसंबर तिमाही में 7,041 करोड़ रुपये और सितंबर तिमाही में 14,436 करोड़ रुपये निकाले थे.

दिसंबर 2021 के बाद सर्वाधिक निवेश
जून तिमाही में हाईब्रिड फंड में आया निवेश दिसंबर, 2021 तिमाही के बाद सर्वाधिक है. तब इन योजनाओं में 20,422 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था. क्लाइंट एसोसिएट्स के सह-संस्थापक हिमांशु कोहली हाइब्रिड योजनाओं में निवेश के लिए डेट फंड को लेकर टैक्स प्रणाली में बदलाव को श्रेय देते हैं. उन्होंने कहा कि निवेशकों ने बॉन्ड म्यूचुअल फंड में अपना आवंटन घटाते हुए संभवत: हाइब्रिड कोषों में निवेश बढ़ाया है. हाइब्रिड म्यूचुअल फंड में निवेशक खातों या फोलियो की संख्या जून तिमाही में 4.6 लाख बढ़कर 1.22 करोड़ हो गई. यह ऐसी योजनाओं में निवेशकों की बढ़ती रुचि दिखाता है.

Tags: Business news in hindi, Earn money, Money Making Tips, Mutual funds



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

February, 2024 current insights news. Lgbtq movie database. Entertainment news and celebrity gossip.