[ad_1]

हाइलाइट्स

पिछले 4 महीने में सोने की कीमतों में 2,600 रुपये से ज्‍यादा की गिरावट आ चुकी है.
14 सितंबर को 24 कैरेट सोने का हाजिर भाव दिल्‍ली में 59,990 रुपये 10 ग्राम था.
एक समय इसका भाव 62 हजार के आसपास पहुंच गया था, जिसमें गिरावट है.

नई दिल्‍ली. त्‍योहारी सीजन शुरू होने वाला है और सोने की मांग भी जल्‍द बढ़ने वाली है. सवाल ये उठता है कि अगर अभी सोने में निवेश किया जाए तो साल के आखिर तक कितना पैसा बना लेंगे. इस गणित को जानने से पहले यह जान लेना जरूरी है कि पिछले 4 महीने में सोने की कीमतों में जबरदस्‍त गिरावट आई है. आगे त्‍योहारी सीजन शुरू होने के बाद इसकी कीमतों में बड़ा उछाल आने की संभावना दिख रही है.

केडिया एडवाइजरी के डायरेक्‍टर अजय केडिया का कहना है कि सोने की कीमतों में गिरावट दिख रही है. अगर पिछले 4 महीने के ट्रेंड को देखा जाए तो सोने की हाजिर कीमतों में अब तक 2,600 रुपये से ज्‍यादा की गिरावट आ चुकी है. 14 सितंबर गुरुवार को 24 कैरेट सोने के हाजिर भाव को देखें तो दिल्‍ली में यह 59,990 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर चल रहा है. एक समय इसका भाव 62 हजार के आसपास पहुंच गया था.

ये भी पढ़ें –  Alphabet Layoffs : गूगल में फिर चली छंटनी की तलवार, जिन पर था भर्ती का जिम्‍मा, उनकी ही गई नौकरी

दिसंबर तक कितना पहुंचेगा भाव
अजय केडिया का कहना है कि दिसंबर, 2023 तक सोने की कीमतों में 10 फीसदी तक उछाल आने की संभावना है. त्‍योहारी सीजन में मांग बढ़नी तय है और ट्रेंड को देखें तो सोने की कीमत करीब 65 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच जाएगी. यह सोने का अब तक का रिकॉर्ड भाव हो सकता है. सोने की कीमत इसी साल 60 हजार के स्‍तर के पार पहुंची थी.

10 ग्राम पर कितनी कमाई
दिसंबर तक सोने की कीमत 65 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव तक पहुंचती है तो आपको हर तोले यानी 10 ग्राम पर 5,100 रुपये की कमाई हो सकती है. यह करीब 10 फीसदी होगा. यानी आप अभी सोने पर दांव लगाकर महज साढ़े 3 महीने के भीतर ही 10 फीसदी का मोटा रिटर्न हासिल कर सकते हैं. अगर आप भी सोने पर दांव लगाना चाहते हैं तो इसका सबसे सही समय अभी है.

ये भी पढ़ें – Explainer: क्या होता है डिजिटल पासपोर्ट? क्या हैं इसके फायदे, ई-पासपोर्ट से कैसे है अलग, जानें सबकुछ

क्‍यों बढ़ सकती है कीमत
अजय केडिया का कहना है कि सोने की कीमतें बढ़ने के पीछे 5 प्रमुख कारण हैं. सबसे पहला तो यही है कि अक्‍टूबर की शुरुआत से ही फेस्टिव सीजन शुरू हो रहा है. नवरात्र, धनतेरस, दिवाली सहित कई बड़े त्‍योहार आ रहे हैं, जिसमें सोने और गहनों की खरीद बढ़ जाती है. ज्‍यादा मांग से कीमत भी बढ़ेगी. इसके अलावा महंगाई बढ़ने की वजह से लोग हेज कमोडिटी में ज्‍यादा निवेश करेंगे और फिर सोने की मांग बढ़ेगी. तीसरा कारण है डॉलर की कमजोरी, जो विदेशी निवेशकों को सोने की तरफ आकर्षित करेगा. इसके अलावा आरबीआई सहित दुनियाभर के केंद्रीय बैंकों ने ब्‍याज दरें बढ़ाना बंद कर दिया है, जिससे सोने की मांग भी बढ़ेगी. पांचवां कारण ये है कि अर्थव्‍यवस्‍था में स्थिरता लाने के लिए सभी केंद्रीय बैंक सोने की खरीद करेंगे, जिससे फिर एक बार मांग बढ़ेगी और सोने की कीमतों में उछाल आएगा.

Tags: Business news in hindi, Gold, Gold investment, Gold Price Today, Investment tips

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *